आईसीजेएस-सीसीटीएनएस परियोजना में प्रगति डैशबोर्ड पर हरियाणा पुलिस रही प्रथम।

  • नवीन तकनीकों के कार्यान्वयन व पुलिसिंग में तकनीकी प्रगति के लिए हुए सम्मानित।
  • 25 से अधिक मापदंडों में मिले 100 % अंक, 20 माह रहे हम प्रथम स्थान पर।
  • अक्टूबर माह की नवीनतम लिस्ट में भी हरियाणा पुलिस रही है प्रथम।

चंडीगढ़, 22 दिसंबर।
सीसीटीएनएस और आईसीजेएस परियोजनाओं के कार्यान्वयन को मान्यता देने के लिए नई दिल्ली में गृह मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो द्वारा सीसीटीएनएस/अंतर-संचालित आपराधिक न्याय प्रणाली (आईसीजेएस) में अच्छी प्रथाओं पर आयोजित 5वे वार्षिक सम्मेलन में हरियाणा पुलिस को “गुड प्रैक्टिस” के कार्यान्वन पर देश भर में सभी प्रमुख राज्य पुलिस के बीच प्रथम रैंक से सम्मानित किया गया है।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा पुलिस पिछले दो वर्षों में तक़रीबन 20 बार प्रथम स्थान पर रही है। हाल ही में जारी की गई अक्टूबर 2023 माह में जारी की गई प्रगति डैशबोर्ड में भी हरियाणा पुलिस ने सभी मापदंडों में पूर्ण अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। हरियाणा पुलिस लगातार पिछले 6 महीनों से अन्य राज्यों को पछाड़कर प्रथम स्थान हासिल कर रही है, जिस के कारण प्रदेश पुलिस को सम्मानित किया गया है।

हरियाणा पुलिस की तरफ से श्री राकेश आर्य, आईजी, स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो ट्राफी और पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन ने खुफिया ब्यूरो के निदेशक तपन डेका और एनसीआरबी के के उच्चाधिकारीयों की उपस्तिथि मेपुरस्कार प्राप्त किया।
हरियाणा के डीजीपी श्री शत्रुजीत कपूर ने इस उपलब्धि पर स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की टीम व पूरे पुलिस विभाग को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि आईसीजेएस-सीसीटीएनएस कार्यान्वयन के लिए प्रगति डैशबोर्ड पर 1 स्थान प्राप्त करना प्रदेश पुलिस के नवाचार और समर्पण का एक बेहतरीन उदाहरण है। वर्ष के अंतिम माह में प्राप्त इस उपलब्धि पर श्री कपूर ने बताया कि हरियाणा पुलिस द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर सीसीटीएनएस के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन से पुलिस का अपने दैनिक कार्यों में इस तकनीक का और अधिक कुशलता से उपयोग करने का और मनोबल बढ़ेगा।

पिछले दो वर्ष में प्रदेश पुलिस रही 20 बार पहले स्थान पर, 25 से अधिक मापदंडों में मिले 100% अंक : निदेशक, स्टेट क्राइम क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो।
एडीजीपी ओ पी सिंह, आईपीएस, निदेशक, एससीआरबी ने बताया कि हरियाणा पुलिस आईसीजेएस-सीसीटीएनएस परियोजना में अपने बेहतरीन कार्य से प्रगति डैशबोर्ड पर देश देश में प्रथम स्थान पर काबिज़ है। पुलिसिंग में प्रौद्योगिकी को अपनाने के लिए टीम को बधाई देते हुए बताया कि प्रदेश पुलिस जून 2021 के बाद से 20 बार नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो द्वारा जारी डैशबोर्ड में प्रथम स्थान पर रही है। एडीजीपी सिंह ने बताया कि 25 मापदंडों पर प्रदेश पुलिस पूर्ण अंक प्राप्त किये है। इनमें से प्रदेश के सभी थानों में सफलतापूर्वक सीसीटीएनएस लागू करना, सॉफ्टवेयर का क्रियान्वन, सभी रिपोर्ट्स ऑनलाइन बनाना, ट्रेनिंग, ऑफलाइन डेटा-ऑनलाइन स्थानांतरण करने में प्रमुख बिंदु रहे है। इसके अलावा उन्होने जानकारी दी कि सभी गिरफ्तार आरोपियों व गुमशुदा व्यक्तियों का डेटा भी ऑनलाइन कर दिया गया है।

विदित है कि एससीआरबी के निदेशक और नोडल अधिकारी सीसीटीएनएस/आईसीजेएस ओपी सिंह की देखरेख में हरियाणा पुलिस ने हाल ही में सीसीटीएनएस के माध्यम से अपराध से संबंधित डेटा का विश्लेषण करने के लिए एक विशेष तकनीक विकसित की है। वहीँ, पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पंचकूला स्थित साइबर हेल्पलाइन 1930 के बेहतरीन रिस्पांस पर भी हरियाणा पुलिस ने पूर्ण अंक प्राप्त किये है। विदित है कि साइबर हेल्पलाइन 1930 के बेहतरीन संचालन से प्रदेश पुलिस ने मात्र 11 महीने में इस वर्ष 66 करोड़ से अधिक फ्रॉड अमाउंट साइबर ठगों से बचाने में सफलता हासिल की है। वर्तमान में एडीजीपी ओ पी सिंह ही साइबर विभाग कि ज़िम्मेदारी भी सँभाल रहे है।
पुलिस प्रवक्ता ने आगे जानकारी देते हुए बताया प्रदेश पुलिस स्टेट सिटीजन पोर्टल सर्विस में भी सुविधा देने में विभागों में सबसे बेहतर कार्य कर रही है। इसके अतिरिक्त एस आई कुलदीप सिंह, सिपाही वरुण मेहला व सिपाही पवन राव को ICJS-CCTNS मे बेहतरीन कार्य करने के लिए भी सम्मानित किया गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *