पुलिस महानिरीक्षक कुमायूँ परिक्षेत्र ने परिक्षेत्र के पुलिस वॉलिन्टियर्स को किया सम्मानित

नैनीताल उत्तराखंड
रिपोर्ट वसंत बल्लभ जोशी
पुलिस महानिरीक्षक कुमायूँ परिक्षेत्र डॉ. नीलेश आनन्द भरणें द्वारा कोतवाली हल्द्वानी परिसर स्थित सभागार में परिक्षेत्र के समस्त पुलिस वॉलिन्टियर्स की गोष्ठी आयोजित की गयी। जिसमें श्री पंकज भट्ट, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल, श्री हरबंश सिंह पुलिस अधीक्षक नगर, श्री भूपेन्द्र सिंह धोनी क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी, श्री तपेश चन्द क्षेत्राधिकारी पन्तनगर , डॉ एच0एस0 भाकुनी, नोडल अधिकारी एन्टी ड्रग्स ,एमबीपीजी कॉलेज, विभिन्न जनपदों से आये हुए लगभग 102 विभिन्न वॉलिन्टियर(डिजिटल, ट्रैफिक, ड्रग्स, एस0पी0ओ0) , एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी से आये 23 एन्टी ड्रग्स प्रोग्राम के स्टूडेंट्स मौजूद मौजूद रहे।

1-पुलिस महानिरीक्षक महोदय द्वारा बताया गया कि पुलिस वॉलिन्टियर ऐसे स्थानों पर जहाँ पुलिस मौजूद नहीं हो सकती है, पुलिस की THIRD EYE बनकर पुलिस की सहायता करते हैं।
2-पुलिस वॉलिन्टियर का मुख्य दायित्व है कि वे पुलिस को अच्छे कार्यों हेतु सहायता व किसी गलती में आईना दिखाने का कार्य करें।
3-पुलिस वॉलिन्टियर व्यवस्था को पुनः सुदृढ़ करते हुए नए वॉलिन्टियर्स (जो पुलिस की सहायता के इच्छुक हैं) नियुक्त किए जायेंगे। तथा युवाओं व स्कूल कॉलेज के अधिक से अधिक छात्रों को जोड़ा जायेगा।
4- रेंज स्तर पर सभी पुलिस वॉलिन्टियर्स का सम्पूर्ण डॉटा रखा जायेगा। वॉलिन्टियर्स के द्वारा किये जा रहे कार्यों को भी मॉनीटर किया जायेगा। अच्छे कार्यों हेतु वॉलिन्टियर्स को समय-समय पर सम्मानित किया जायेगा।
5- निष्क्रिय वॉलिन्टियर का रजिस्ट्रेशन निरस्त किया जायेगा व उसके स्थान पर किसी अन्य जो कार्य करने का इच्छुक हो, को वॉलिन्टियर नियुक्त किया जायेगा।
5- जनपदों पर को निर्देशित किया जायेगा कि वे समय समय पर वॉलिन्टियर व्यवस्था को चैक करें व जनपद/थाना स्तर पर गोष्ठी आयोजित करें, जिससे पुलिस वॉलिन्टियर्स में ऊर्जा का संवहन होगा।
6-ट्रैफिक वॉलिन्टियर अपनी सेवा क्षमतानुसार, विकेन्ड पर अथवा पीक ऑवर में दे सकते हैं।

गोष्ठी के दौरान विभिन्न वॉलिन्टियर्स द्वारा दिये गए सुझाव-
1- जनपद नैनीताल से आए ड्रग्स वॉलिन्टियर ने पुलिस द्वारा नशे के विरूद्ध की गयी कार्यवाही की सराहना की ।
2- जनपद नैनीताल की ट्रैफिक वॉलिन्टियर जानकी थापा ने पुलिस की ट्रैफिक वॉलिन्टियर व्यवस्था की सराहना करतेहुए अन्य लोगों को भी ट्रैफिक वॉलिन्टियर बनने हेतु प्रेरित किया।
3- गोष्ठी के दौरान क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी द्वारा बताया गया है कि अंकित सुयाल ट्रैफिक वॉलिन्टियर भवाली क्षेत्र प्रतिदिन 08-10 घंटे ट्रैफिक ड्यूटी करते हुए पुलिस की मदद करते हैं । इसी भांति अन्य लोग भी ट्रैफिक वॉलिन्टियर बनकर पुलिस की सहायता कर सकते हैं।
4- दीपक चौसाली, डिजिटल वॉलिन्टियर चोरगलिया ने वॉलिन्टियर व्यवस्था की सराहना करते हुए बताया कि इससे समाज में जागरूकता आती है, लोगों का आपसी समन्व्य बना रहता है, तथा इस व्यवस्था में लोग समाज के लिए कार्य कर सकते हैं।
5- गोष्ठी में एक ट्रैफिक वॉलिन्टियर ने बताया कि रोड कंट्रोल(पुलिस) व रोड यूजर आपस में समन्व्य होना चाहिए। जिससे यातायात व्यवस्था सुचारू होती है।
6- ऊधमसिंहनगर से डीजिटल वॉलिन्टियर योगेश ने बताया कि गौरा शक्ति एप की तरह ही नगर निगम के माध्यम से एप बनाया जाना चाहिए ताकि आपस में समन्व्य किया जा सके।
7- ड्रग वॉलिन्टियर्स ने बताया कि कॉलेज आदि को भी इस मुहिम में जोड़ना चाहिए, अधिक से अधिक स्कूली बच्चों को वॉलिन्टियर बनाया जाना चाहिए। युवा आज के समाज की नीव है, यदि युवा जागरूक होगा व नशे आदि के खिलाफ पुलिस सहायता करेगा तो समाज को ड्रग्स की पकड़ से आजाद कराया जा सकता है।
8- ऊधमसिंहनगर से आये ट्रैफिक वॉलिन्टियर ने बताया कि समय-समय पर जनपद स्तर, थाना स्तर पर वॉलिन्टियर्स की गोष्ठी आयोजित करते हुए आपसी समन्व्य बनाया जाना चाहिए। ऐसी गोष्ठी से वॉलिन्टियर्स में नई ऊर्जा का संचार होता है तथा उन्हें उनके उपयोगी होने का अनुभव होता है।
9- नैनीताल के ट्रैफिक वॉलिन्टियर ने बताया कि रोड पर अतिक्रमण होने से नाली व गूल निकासी बाधित हो रही है जिससे पानी सड़कों पर आ जाता है जिससे आमजन को समस्या उठानी पड़ती है जिसके निवारण हेतु व्यवस्था की जानी चाहिए।
10- नैनीताल जनपद के अन्य ट्रैफिक वॉलिन्टियर ने बताया कि अतिक्रमण आज की मुख्य समस्या है जिससे यातायात व्यवस्था बाधितहोती है। जिसके स्थाई समाधान निकाले जाने की अपील की।
11- मुखानी से क्रियाशाला तक रोड के किनारे वाहन पार्क होने, फलों की दुकान लगने के कारण दुर्घटनाएं घटित होती हैं । जिस सम्बन्ध में स्थाई समाधान किए जाने की आवश्यकता है।
11-टैक्सी चालक शराब पीकर वाहन चलाते हैं जिस कारण पर्यटकों व अन्य यात्रियों को समस्या होती है । जिस हेतु आवश्यक समाधान किए जाने की अपील की गयी।

12- आटो ,टुकटुक आदि मुखानी, मिनी स्टेडियम, लाल डाट , कुसुमखेड़ा आदि स्थानों पर अव्यवस्थित रूप से खड़े रहते हैं जिससे यातायात बाधित होता है। इस समस्या के निवारण हेतु स्थायी समाधान निकाले जाने की अपील की गयी ।
13- लालकुंआ क्षेत्र में अवैध शराब व नशीले पदार्थों की ब्रिकी होने तथा इस संबंध में प्रभावी कार्यवाही किए जाने की अपील की गयी।
14- सरकारी भूमि पर हो रहे अतिक्रमण के सम्बन्ध में यदि किसी व्यक्ति द्वारा भ्रामक पोस्ट फेसबुक आदि पर की जाती है तो डीजिटल वॉलिन्टियर्स द्वारा काउन्टर पोस्ट डालकर उक्त भ्रामक पोस्ट का खण्डन किया जाना चाहिए।
15- साईबर अपराध व साईपर अपराध के रोकथाम में साईबर वॉलिन्टियर्स की भूमिका के बारे में उ0नि0 वन्दना चौधरी, साईबर थाना रूद्रपुर द्वारा जानकारी उपलब्ध कराते हुए अधिकाधिक लोगों को साईबर वॉलिन्टियर बनने हेतु प्रेरित किया गया व बताया गया की साईबर वॉलिन्टियर्स पुलिस की तिसरी आख के रूप में कार्य करते हैं।

उक्त गोष्ठी के बाद सभी जनपदों से आये डिजिटल, ट्रैफिक, आपदा, ड्रग्स वॉलिन्टियर्स, एस0पी0ओ0, एमबीपीजी कॉलेज के छात्रों को प्रशस्ति पत्र वितरित किए गए। जिसमें एम0बी0पी0जी0 कॉलेज से आये एन्टी ड्रग प्रोग्राम के 23 छात्रों को प्रशस्ति पत्र वितरित किए गए। नैनीताल जनपद के कुल 44( 27 ट्रैफिक वॉलिन्टियर्स, 7 डिजिटल वॉलिन्टियर, 10 सामान्य वॉलिन्टियर्स ), जनपद ऊधमसिंहनगर के 32(17 ट्रैफिक वॉलिन्टियर्स, 10 डिजिटल, 05 सामान्य ), जनपद अल्मोड़ा के 02 डिजिटल वॉलिन्टियर व बागेश्वर के 01 डिजिटल वॉलिन्टियर को प्रशस्ति पत्र व आई कार्ड देते हुए कुल 102 पुलिस वॉलिन्टियर्स को सम्मानित किया गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *