उत्तराखंड पुलिस वाइफ वेलफेयर एसोसिएशन (उपवा) द्वारा पुलिस लाइन देहरादून में तीन दिवसीय दीपावली मेले का आयोजन

(वसंत बल्लभ जोशी देहरादून उत्तराखंड)
उत्तराखण्ड राज्य में पुलिस परिवारों के हितों की सुरक्षा एवं उनके कल्याणार्थ गठित उत्तराखंड पुलिस वाइफ वेलफेयर एसोसिएशन (उपवा) द्वारा पुलिस परिवार की महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं स्वावलंबी बनाए जाने हेतु तथा उनके द्वारा तैयार किए गए उत्पाद सामग्री को एक मंच प्रदान किए जाने हेतु दिनांक १८ से २० अक्टूबर २०२२ को पुलिस लाईन देहरादून में तीन दिवसीय राज्य स्तरीय उपवा दीपावली वेलफेयर मेला २०२२ का आयोजन किया जा रहा है।


उपवा संगठन पुलिस परिवार में समन्वय स्थापित करने व उनकी समस्याओं तथा जरूरतों का समाधान करने हेतु उत्तराखंड पुलिस वाइफ वेलफेयर एसोसिएशन आगे बढ़ चढ़कर कार्य कर रही है। उपवा पुलिस परिवार को शैक्षणिक आत्मनिर्भर बनाने, पुलिस परिवार की महिलाओं को व्यवसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रमों व कार्यशालाओं के माध्यम से प्रशिक्षित करने, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने, विधवा महिलाओं एवं दिव्यांग और विशेष बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल करने का कार्य कर रही है।


उपवा दीपावली मेले का शुभारम्भ आज दिनांक १८.१०.२०२२ को मुख्य अतिथि श्रीमती गीता धामी पत्नी श्री पुष्कर सिंह धामी, मा० मुख्यमंत्री, उत्तराखण्ड द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। दीप प्रज्जवलित करने के पश्चात मुख्य अतिथि महोदया द्वारा उपवा मेले का भ्रमण किया गया।

भ्रमण के पश्चात श्रीमती गीता धामी द्वारा मेले व पुलिस परिवार की महिलाओं द्वारा तैयार किये गये उत्पादों की प्रशंसा की गई तथा उनके द्वारा बताया गया की उत्पाद बहुत अच्छी क्वॉलिटी के हैं तथा इन उत्पादों को एक अच्छे मार्केटिंग की आवश्यकता है। उनके द्वारा उपवा मेले में उत्पाद तैयार करने वाली महिलाओं तथा उपवा की समस्त महिलाओं की मुक्तकंठ से प्रशंसा की गयी तथा मेले के सफल आयोजन हेतु शुभकामनाएं दी गयी। पुलिस परिवार की अध्यक्षा डा० अलकनंदा अशोक द्वारा मुख्य अतिथि महोदया को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।


संध्या काल में पुलिस मार्डन स्कूल व सांस्कृतिक विभाग द्वारा मनमोहक रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का प्रस्तुतिकरण किया गया। इसके साथ ही प्रदेश में संचालित कुल ०५ पुलिस मार्डन स्कूल में से पुलिस मार्डन स्कूल ४० पी०ए०सी० को बेस्ट पुलिस मार्डन स्कूल की ट्राफी से सम्मानित किया गया। द्वारा को
उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक परम्पराओं में विभिन्न प्रकार की लोक कलाओं का उल्लेख है। उन्हीं में से एक ऐपण कला भी है। उत्तराखण्ड की स्थानीय चित्रकला की शैली को ऐपण के रूप में जाना जाता है। मुख्यतः ऐपण उत्तराखण्ड में शुभ अवसरों पर बनायी जाने वाली रंगोली है। इसी ऐपण कला को उत्तराखण्ड पुलिस परिवार की महिलाओं द्वारा गमछा, शाॅल व अन्य वस्त्रों में उकेरा गया है।


वॉयस ऑफ इंडिया व इंडियन आइडल सीजन-१२ के विजेता उत्तराखण्ड के प्रसिद्ध गायक पवनदीप राजन की मधुर आवाज से सभी श्रोतागण झूम उठे। पवनदीप व मेले को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग देर रात तक पुलिस लाइन में जुटे रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *